स्किनकेयर की बात करें, तो एक्ने या मुंहासे होने के बाद वो भले ही ठीक हो जाए, लेकिन उसके निशान हमेशा के लिए स्किन पर रह जाते हैं, जो बेहद गंदे लगते हैं। यह हमारी स्किन को ख़राब कर देते हैं। ऐसे में निशान हटाने के लिए हम कई तरीके के उपाय करते हैं। कई बार हमें लगता है कि मेकअप करने से ये निशान छुप जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं होता। ऐसे में आपको जरूरत है कुछ परमानेंट नुस्खे अपनाने की, ताकि आपकी स्किन फ्लॉलेस नज़र आए।

आपको बता दें कि एक्ने स्कार्स यानी मुंहासों के निशान  मुख्य रूप से तीन तरह के होते हैं, जो स्किन पर बुरी तरह से दाग छोड़ते हैं और स्किन को ख़राब कर देते हैं। ये हैं-
आइस पिक स्कार्स : ये काफी गहरे और छोटे-छोटे छेद की तरह होते हैं, जो स्किन में गहराई तक हो जाते हैं।

रोलिंग स्कार्स : यह डीप या शार्प नहीं होते हैं, लेकिन इसके सॉफ्ट किनारे आपकी स्किन के साथ मिल जाते हैं और स्किन को एकसमान नहीं रहने देते हैं।

बॉक्स स्कार्स : यह एक वाइड, ओवल या बॉक्स जैसे शार्प एज के रूप में स्किन पर नजर आते हैं, और यह स्किन को असमान बना देते हैं। यह ठीक रोलिंग स्कार्स की तरह ही होते हैं।

 

 

एक्ने स्कार्स होने के कारण

एक्ने स्कार्स होने के कारण

यह एट्रोफिक एक्ने स्कार्स के नाम से जाने जाते हैं। ये अजीब से दिखने वाले धब्बे वाले निशान का मुख्य कारण कोलेजन के पुनर्निर्माण की कमी और इन्फ्लेमेशन का होना है। यह मुंहासों के घाव को भरने या ठीक करने की प्रक्रिया को रोकता है। जिस तरह स्किन पर हुए किसी भी घाव को ठीक होने के लिए कॉलेजन और टिशू प्रोडक्शन की जरूरत होती है, तो मुंहासों को ठीक होने के लिए भी उसी प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। इसलिए जब हम मुंहासों को बार-बार छूते हैं या उन्हें छेड़ते हैं, तो मुंहासों और अधिक परेशान करने लगता है। जिसकी वजह से कोलेजेन, स्किन में कम प्रोड्यूस होने लगता है और इससे डीप और शैलो कैविटीज की समस्या शुरू हो जाती है।

 

मुंहासों के निशान से कैसे पाएं छुटकारा

मुंहासों के निशान से कैसे पाएं छुटकारा

 

मुंहासों के निशान चिंता का विषय हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि इसका उपचार नहीं किया जा सकता है। आइये जानें कि इसके उपचार क्या-क्या हो सकते हैं ?

रेटिनॉइड्स

स्किनकेयर की दुनिया में रेटिनॉइड्स एक महत्वपूर्ण इनग्रेडिएंट है। रेटिनॉइड्स आपके मुंहासे और उसके निशान को अच्छी तरह से मिटा देता है। यह विटामिन ए और अम्ब्रेला टर्म रेटिनॉल बेस्ड स्किन केयर प्रोडक्ट्स से बना होता है।  यह सेल्युलर लेवल और स्किन सेल्स को बढ़ाने में मदद करता है, कोलेजन प्रोडक्शन को बूस्ट करता है और इन्फ्लेमेशन को ठीक करता है। यह मुंहासों के निशान को घटाने में मदद करता है, साथ ही मुंहासों से हुए किसी भी बंप को स्किन पर बढ़ने से रोकता है।

 

 

माइक्रो नीडलिंग

माइक्रो नीडलिंग

जैसा कि नाम से ज़ाहिर है, माइक्रो नीडलिंग एक ऐसा प्रोसेस है, जिसमें कई सारी छोटी-छोटी पिन्स होती हैं, जो नीडल्स की तरह दिखाई देती हैं, उसे स्किन में डाला जाता है। यह सुन कर आपको बहुत डरवाना लग रहा होगा, लेकिन यह बिल्कुल हानिकारक नहीं होता है। यह माइक्रो नीडल्स डिवाइस है, जो कि इसी काम के लिए बनाए गए हैं। लेकिन इसके बावजूद अगर, आप चाहती हैं कि आप अपने स्निशान के ट्रीटमेंट को किसी प्रोफेशनल की मौजूदगी में ट्रीट करवायें, तो आपको एक अच्छे डर्मेटोलॉजिस्ट से कंसल्ट करना चाहिए, जो इस माइक्रो नीडलिंग ट्रीटमेंट को कर सके। इस प्रोसेस में माइक्रोनीड्ल के ज़रिए विशेष रूप से कोलेजन के प्रोडक्शन को आपकी स्किन तक पहुंचाने में मदद की जाती है, ।

 

केमिकल पील

केमिकल पील

केमिकल पील ट्रीटमेंट को आप आसानी से किसी डर्मेट क्लीनिक पर करवा सकती हैं। इस प्रोसेज में केमिकल सोल्यूशन की एक लेयर को स्किन पर अप्लाई किया जाता है और फिर उसे हटाया जाता है। यह स्किन को एक्सफोलिएट करने में मदद करता है और स्किन को डैमेज होने व डेड स्किन लेयर्स से बचाता है। इस तरह डेड स्किन लेयर्स को हटा कर स्किन को फिर से फ्रेश बनाता है। यह पील आपकी स्किन से मुंहासे के निशान को हटाने में काफी लाभदायक होते हैं। सबसे सामान्य केमिकल्स जो इस पील्स में इस्तेमाल होते हैं, वे हैं सैलिसिलिक और ग्लाइकोलिक एसिड।

 

माइल्ड एक्सफोलिएशन

माइल्ड एक्सफोलिएशन

हो सकता है कि एक्सफोलिएशन, मुंहासे के निशान को पूरी तरह हटाने में जल्द से जल्द फायदेमंद न हों, लेकिन यह आपकी स्किन में जो उभरे हुए मुंहासे हैं, उन्हें कम करने में मदद जरूर करता है। इसलिए बेहतर है कि आप एक ऐसा सैलिसलिक एसिड फार्मूला इस्तेमाल करें, जो आपकी स्किन के पोर्स तक जाए और उसे क्लीन करे, साथ ही आपकी स्किन की जिद्दी गंदगी को और सीबम को हटाए। इसके लिए आपको Dermalogica Daily Microfoliant Exfoliant इस्तेमाल करना चाहिए, इसे आपको अपनी डेड स्किन सेल्स के ऊपर स्क्रब करना चाहिए, यह आपके पोर्स को खोलता है और आपकी स्किन को चमकदार बनाता है। सैलिसिलिक एसिड के साथ-साथ इसमें माइक्रोफोलिएटिंग राइस एक्सट्रैक्ट्स, पपाइन एंजाइम, एलन्टॉइन और लिकोरिस जैसे तत्व होते हैं, जो आपकी स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है।

 

विटामिन सी

विटामिन सी

विटामिन सी स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है, यह तो सभी जानते हैं। इसके रेगुलर इस्तेमाल से मुंहासे के निशान कम होते जाते हैं। यह एस्कोर्बिक एसिड के रूप में भी जाना जाता है। यह कोलेजन प्रोडक्शन में फायदेमंद होता है। यह डैमेज सेल्स को रिपेयर करता है और एक्ने स्पॉट्स को हल्का करता है। यह असमान स्किन टोन के समान करता है। Lakmé Vitamin C+ Facial Serum इसके लिए बेस्ट है। इसमें काकडू प्लम होते हैं और यह विटामिन सी भरपूर है. यह सीरम आपकी स्किन के टेक्स्चर को अच्छा करता है।