काले, घने और खूबसूरत बालों की चाह है तो लगाएं रीठा

Written by Suman SharmaNov 30, 2023
काले, घने और खूबसूरत बालों की चाह है तो लगाएं रीठा

रीठा बालों के लिए एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है, जिसे महिलाएं लंबे घने बाल पाने के लिए अपने बालों में लगाती हैं। बचपन से हमने रीठा के बारे में सुना है कि वह बालों के लिए अच्छा होता है, लेकिन इसके अन्य गुण की कभी चर्चा नहीं हुई है, तो आइये रीठा के गुणों के बारे में विस्तार से जान लेते हैं। रीठा का वानस्पतिक नाम सपेंडिस सपोनेरिया है, इसे अरीठा, इटा और चाइनीज सोपबेरी भी बुलाते हैं।

 

रीठा क्या है?

रीठा के नुकसान

सबसे पहले यह जानना बेहद ज़रूरी है कि रीठा आखिर है क्या? तो हम आपको बता दें कि रीठा एक जड़ी-बूटी है और इसके दो प्रकार होते हैं। एक सैपनीडस म्यूकोरोसी और दूसरा सैपनीडस त्रिफोलिट्स।

1. सैपनीडस म्यूकोरोसी

सैपनीडस म्यूकोरोसी, लगभग 15 मीटर ऊँचा होता है, इसमें सफ़ेद और बैंगनी रंग के फूल होते हैं, इसके फल गुदेदार और चमकीले होते हैं व सूखने के बाद उसका रंग काला हो जाता है।

2. सैपनीडस ट्रायफोलिट्स

यह फलों की आकृति का होता है। इसे अलग करने पर हृदयाकार रूप बनता है। पकने के बाद यह थोड़ा लाल और भूरे रंग का हो जाता है। यह दक्षिण भारत में अधिक मिलता है।

 

बालों के लिए किस तरह उपयोगी है रीठा

रीठा के नुकसान

1 . रीठा बालों की खूबसूरती बढ़ाता है और उन्हें स्वस्थ बनाता है. इसके लिए आपको कपूर कचरी, नागरमोथा, आंवला और शिकाकाई के साथ मिला कर इसे बालों में लगाकर कुछ देर तक रखें और फिर बाल धो लें। इससे बाल घने और लंबे हो जाते हैं

2. रीठा से रूसी की परेशानी भी खत्म होती है, यानी डैंड्रफ आसानी से चले जाते हैं।

3. जूं की समस्या को खत्म करने के लिए रीठा को शिकाकाई व आंवले के साथ मिलाकर लगाएं।

4. अगर आपको स्कैल्प में जलन हो रही है तो रीठा लाभकारी साबित होता है। यह स्कैल्प पर जमी पपड़ी को भी दूर करता है।

5. बालों में रीठा शैम्पू के रूप में बहुत इस्तेमाल होता है। इसके लिए रीठा को पानी में भिगोएं और पीसकर पेस्ट बना लें। फिर उस पेस्ट को अपने बालों में लगाकर बाल धोएं, तो काफी फायदा होगा।

6. रीठा के उपयोग से बाल झड़ने तो रुकते ही हैं, साथ ही बालों का उलझना भी कम होता है।

7. रीठा बालों को ठंडक पहुंचाता है। 8. बालों में खुजली की परेशानी दूर करने में रीठा लाभकारी होता है|

 

रीठा का शैम्पू और कंडीशनर कैसे बनाएं

रीठा के नुकसान

रीठा को आप कंडीशनर और शैम्पू दोनों रूपों में इस्तेमाल कर सकती हैं।

1. रीठा का शैम्पू

शैम्पू बनाने के लिए आंवला, शिकाकाई और रीठा के बीजों को पानी में डाल कर 30 से चालीस मिनट तक उबाल लें और रात भर ऐसे ही रहने दें। फिर सुबह पानी से छान लें, इस पानी को शैम्पू के रूप में प्रयोग करें। यह झाग नहीं बनाते, लेकिन बाल धोने के लिए बेहतरीन है। इसमें एंटी बैक्टेरियन गुण होते हैं, इसलिए यह स्कैल्प के लिए अच्छे होते हैं। यह शैम्पू आपके बालों से डैंड्रफ को दूर करेगा, बालों की झड़ने की परेशानी को खत्म करेगा।

2. रीठा का कंडीशनर

रात भर रीठा के पाउडर को भीगो दें, फिर सुबह पानी से पाउडर हटा दें और इससे बालों को धोएं, यह कंडीशनर का काम करेगा।

 

हेयर मास्क के लिए रीठा

रीठा के नुकसान

सूखा आंवला और रीठा को अलग-अलग पानी में रात भर भिगोकर रखें, फिर दोनों को मिक्स कर दें। इसमें गुड़हल के फूल की पत्तियां और दही मिलाएं। अगर आपके बाल तैलीय हैं, तो आप मुल्तानी मिटटी भी मिला सकते हैं। इन चीजों को फिर से मिला कर रातभर रख दें और सुबह छान लें। अब बालों और जड़ों में इससे मसाज करें और एक घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें। रीठा को पानी में तब तक उबाल लें, जब तक रीठा मुलायम न हो जाये, फिर पानी से इसे निकाल कर मैश कर लें, अब रीठा शैम्पू से बालों को धो लें।

 

कई रोगों में रीठा है फ़ायदेमंद

रीठा के नुकसान

1. अगर किसी को माइग्रेन या अधकपारी जैसी परेशानी है, तब आपको रीठा का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके लिए रीठा में एक-दो काली मिर्च के साथ मिलाकर नाक में इसकी चार से पांच बूंदें डालें, इससे माइग्रेन में आराम मिलता है।

2. रीठा के जल को एक से दो बूंद नाक में डालने से भी माइग्रेन और मस्तक रोग में आसानी होती है।

3. रीठा दांतों के इलाज के लिए बेहतरीन होता है। जी हां, रीठा के बीजों को तवे पर जला कर पीस लें, फिर इसमें बराबर मात्रा में पिसी हुई फिटकारी मिला लें, इस चूर्ण दांतों पर मलने से दांतों के सब प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं।

4. अगर आपको खांसी की परेशानी है, तो रीठा के चूर्ण का सेवन ज़रूर करना चाहिए। इसे त्रिकटु चूर्ण के साथ मिला कर पानी में डाल कर छोड़ दें, फिर अगली सुबह में इस पानी की चार पांच बूंदें नाक में डालने से काफी आराम मिलता है। इससे अंदर जमा हुआ कफ बाहर आ जाता है और सिर दर्द से राहत मिलता है।

5. अगर आपके घर में कोई दमे से परेशान हैं, तो रीठा से दमे में भी काफी लाभ मिलता है। दमा को ठीक करने के लिए इसके फल को पीसकर सूंघ लें, दमे में लाभ मिलेगा। दमा रोकने के लिए रीठा की गिरी को पानी में मिला कर, उसे फिर मथ देना है, जब झाग निकलने लगे तो इस पानी को दमा के रोगी को पिलाएं, आराम मिलेगा।

6. आपको इस बात को जानकर हैरानी होगी कि रीठा आंखों के लिए भी बेहतरीन तरीके से काम करता है। अगर किसी को आंख में दर्द या आंख से पानी बहने की परेशानी है तो रीठा फल को पानी में उबाल कर इसे ठंडा कर लें और इससे आंखों को धोएं तो काफी फायदा मिलेगा।

7. अगर किसी महिला को मासिक धर्म की परेशानी है तो रीठा फल की छाल को महीन पीसकर शहद मिला कर, इसे अपनी योनि के ऊपर रख लें, इससे मासिक धर्म यानी पीरियड के दौरान होने वाली परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

8 . रीठा एंटी इंफ्लेमेटरी होता है, इसलिए यह किसी भी प्रकार के सूजन को ठीक करने के लिए अच्छा होता है।

9. अगर किसी को प्रसव से संबंधित परेशानी हो रही है तो रीठा फल के झाग को योनि के पास रखने से राहत मिलती है।

10. कई लोगों को मूत्र रोग की भी परेशानी से गुज़रना पड़ता है, ऐसे में उन्हें इसके लिए रीठा को पानी में भीगा कर, रात भर रखना है, फिर साफ करके समय-समय पर पिएं, तो इससे पेशाब में होने वाले जलन से भी राहत मिलती है।

11. बवासीर में रीठा का बीज बहुत कारगार साबित होता है। इसके बीज को निकाल कर इसमें पानी डाल कर रात भर छोड़ दें, फिर उस पानी को सुबह पिएं, तो लाभ होगा। इसके अलावा फल के शेष भाग को तवे पर जला लें, इसमें बराबर मात्रा में कत्था मिला कर अच्छी तरह से पीस लें, इस चूर्ण को सुबह और शाम मक्खन या मलाई के साथ खाने से बहुत आराम मिलता है। इसे कम से कम सात दिनों तक दोहराएं।

12. किसी इंसान को अगर मिर्गी की परेशानी है, तो इसका बीज कमाल करता है। रीठा को पीस कर इसे मिर्गी के रोगी को सुंघाने से बहुत फायदा होता है।

13 . अगर किसी ज़हरीले कीड़े ने काटा है, तो रीठा को पीसकर, अगर कटे स्थान पर लगाया जाये, तो इससे फायदा होता है। इसके अलावा रीठा को अगर पानी में पकाने के बाद, उसे उस व्यक्ति को पिलाया जाये, तो जहर उल्टी के रूप में बाहर आ जाता है। खासतौर से अगर ज़हर बिच्छू के काटने का हो तो, इसके फल में तम्बाकू का चूर्ण मिला कर इसे खाने से डंक उतर जाता है। कई जगहों पर अफीम का नशा और बाकी तरह के नशे को उतारने के लिए भी इसका उपयोग होता है।

 

स्किन के लिए रीठा के उपयोग

रीठा के नुकसान

रीठा के पानी से अगर स्किन में हुए घाव को धोया जाए, तो काफी आराम मिलता है। इसके पानी से खुजली जैसी परेशानी से भी राहत मिलती है।

 

रीठा के नुकसान

रीठा के नुकसान

रीठा यूं तो बेहद फ़ायदेमंद है, लेकिन ज़रूरतानुसार ही इसका उपयोग ठीक है, वरना यह भी नुकसान पहुंचा सकता है।

रीठा उन लोगों के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होता है, जो लोग गर्म प्रकृति में रहते हैं। ऐसे में उन्हें चिकित्सक से सलाह लेने के बाद ही इसका उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा रीठा के झाग को कभी भी आंखों में नहीं लगाना चाहिए।

Suman Sharma

Written by

Author at BeBeautiful
10430 views

Shop This Story

Looking for something else