एक ज़माना था, जब काले, घने और लंबे बाल होना एक आम बात थी और यह महिलाओं की खूबसूरती का पैमाना हुआ करता था। आज जिसे देखो बाल छोटे करवाने में लगा है, हालांकि उन्हें दोष देना गलत होगा, क्योंकि बालों की इतनी समस्याएं हैं कि आजकल लंबे, घने बाल पाना एक सपने जैसा लगता है। कारण कई हैं, हमारी लाइफस्टाइल कहो या खान-पान व रख-रखाव की कमी, बालों का झड़ना, रूसी, रूखापन और समय से पहले सफ़ेद हो जाना आम बात हो गई है। ख़ैर, आपकी इस समस्या का निराकरण हमारे पास एक रूप में है, जी हां हम बात कर रहे हैं इंदुलेखा तेल की, जो खास इन सभी समस्याओं को देखते हुए बनाया गया है।

इंदुलेखा हेयर ऑयल कई सामग्रियों व एसेंशियल ऑयल से मिलकर बना है। यह क्लीनिकली भी प्रूव हो चुका है कि इंदुलेखा का इस्तेमाल बालों की सभी समस्याओं से छुटकारा देता है। इसका ऑयल यह न सिर्फ बालों का झड़ना रोकता है, बल्कि यह नए बालों का भी विकास करता है। यह 13 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बना है। इसलिए इंदुलेखा ऑयल को लोग बेहद पसंद कर रहे हैं।

आइये जानें, ये किस तरह काम करता है और इसमें कौन-कौन से गुण

 

1. इंदुलेखा तेल के फायदे

इंदुलेखा तेल के फायदे

इंदुलेखा तेल 13 गुणकारी जड़ीबूटियों से मिलकर बना है, जिसमें भृंगराज, करी पत्ता, इंद्रायव, नीम, आंवला, एलो वेरा, ब्राह्मी, अंगूर, बादाम तेल, क्षीरम, मुलेठी, कपूर और नारियल तेल शामिल हैं।

आइये, जानते हैं इनके गुण।

  1. इंदुलेखा तेल में है भृंगराज। भृंगराज के बारे में हम सभी जानते हैं कि यह बालों के लिए बहुत अच्छा होता है और आयुर्वेद में इसका उपयोग प्राचीन समय से चलता आ रहा है। यह एक गुणकारी औषधि है, जिसे बालों की जड़ों को मजबूत करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह स्कैल्प पर अच्छी तरह से एब्जॉर्ब हो जाता है और गहराई तक जाकर बालों को पोषण देता है।
  2. इसमें है करी पत्ता, जो बालों को सफ़ेद होने से रोकता है और उन्हें काला बनाता है, यह बालों का झड़ना रोकता है और रूसी की समस्या से छुटकारा दिलाता है।
  3. एलो वेरा के गुणों से हम सभी परिचित हैं। इसमें मौजूद विटामिन्स और न्यूट्रीएंट्स बालों को नमी देता है, जिससे वो नर्म व मुलायम बनते हैं साथ ही यह बालों की समस्याओं को भी खत्म करता है।
  4. इंदुलेखा में वर्जिन कोकोनट ऑयल भी शामिल है। कोकोनट ऑयल मौजूद लॉरिक एसिड बालों के लिए फ़ायदेमंद होता है। यह डैमेज्ड बालों को फिर से रिपेयर करता है।
  5. इसमें आंवला भी मिला है। आंवला में विटामिन सी होता है, जो बालों को सफ़ेद होने से रोकता है और बालों को मज़बूत बनाता है। यह स्कैल्प से डेड सेल्स को हटाता है और नए बाल उगने में मदद करता है।
  6. अंगूर स्कैल्प को डिटोक्सिफाय करता है, जिससे एलर्जी का खतरा कम होता है।
  7. मुलेठी में एंटीमाइक्रोबायल गुण होते हैं, जो स्कैल्प को क्लीन रखते हैं, जिससे खुजली और रूसी की समस्या नहीं होती।
  8. इसमें मौजूद बादाम का तेल बालों को पोषण देता है और नमी बरकरार रखता है।
  9. इस तेल में नीम भी होता है, जिसकी वजह से बैक्टीरिया मर जाते हैं और स्कैल्प में इंफेक्शन नहीं होता है। यह बालों को बढ़ने में भी मदद करता है।
  10. ब्राह्मी बालों की समस्या के लिए रामबाण है। यह बालों में चमक लाता है और उन्हें बेजान होने से बचाता है, साथ ही रूसी व दोमुंहे बालों से छुटकारा दिलाता है।
  11. कपूर बालों को ठंडक देता है और माइग्रेन व रूसी से निजात दिलाता है।
  12. क्षीरम इंदुलेखा तेल का खास इंग्रेडिएंट है, जो स्कैल्प में ब्लड सर्क्युलेशन बढ़ाता है।
  13. इंद्रायव के एंटीबैक्टीरियल और एंटीफ्लेमेट्री गुण एलर्जिक रिएक्शन को कम करता है और स्कैल्प संबंधी समस्याओं को खत्म करता है।
 

2. इंदुलेखा तेल लगाने के फ़ायदे

इंदुलेखा तेल लगाने के फ़ायदे

  1. इस तेल से आपके स्कैल्प में ब्लड सर्क्युलेशन अच्छी तरह से होता है।
  2. इसलिए इसके नियमित उपयोग से बालों का झड़ना जल्दी ही बंद हो जाता है।
  3. यह तेल आपके बालों में जरूरी पोषक तत्व पहुंचाता है, जिससे छोटे बालों को तेजी से बढ़ने में मदद मिलती है।
  4. यह तेल जड़ों में अंदर गहराई तक जाकर पोषण देता है, जिससे बालों के टूटने और झड़ने की परेशानी खत्म होने लगती है।
  5. इस तेल के लगातार इस्तेमाल से डैंड्रफ और बालों की अन्य समस्या दूर होती है।
  6. यह बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से रोकता है।
  7. तनाव को दूर करने के लिए भी इस तेल का इस्तेमाल करना चाहिए, हफ्ते में कम से कम एक बार इस तेल से मसाज ज़रूर करें।
  8. इस तेल से बालों में अच्छी चमक भी आती है, क्योंकि इसमें कोई केमिकल नहीं है और कई आयुर्वेदिक चीज़ें मिली हैं। तेल के नियमित रूप से इस्तेमाल करने से बालों में जूं व लीक की समस्या से भी निदान मिलता है।
  9. यह बालों को पोषण देता है, जिससे बालों का टूटना कम होता है और बाल दो मुंहें नहीं होते हैं।
  10. इसका उपयोग महिला और पुरुष दोनों कर सकते हैं।
 

3. कैसे करें इंदुलेखा तेल का प्रयोग

कैसे करें इंदुलेखा तेल का प्रयोग

इंदुलेखा तेल के साथ आने वाली कंघी की मदद से इस तेल को प्रयोग करना बहुत आसान हो जाता है। इस कंघी की मदद से तेल बालों की जड़ों तक पहुंचता है। दूसरे तेल के मुकाबले जिन्हें आप हथेली पर डालकर लगाते हैं इस तेल को लगाना काफी आसान है, क्योंकि हथेली पर लगाकर लगाने से तेल बालों पर ही रह जाता है और जड़ों तक नहीं पहुंच पाता, जबकि ये तेल जड़ों तक पहुंच कर स्कैल्प तक पूरा पोषण पहुंचाता है। आइये, देखते हैं इसे कैसे इस्तेमाल करें।

स्टेप1- सबसे पहले कंघी को खोल लें।

स्टेप 2- अब पिन की मदद से जहां पर कंघी लगी थी, उस कैप में छेद कर लें।

स्टेप 3- अब कंघी को वापिस लगा दें।

स्टेप 4- कंघी को बालों में फेरें और पूरे सिर में कंघी करें।

स्टेप 5- बोतल को हल्के हाथों से दबाएं, ताकि तेल कंघी में बने छेदों से बाहर आ सके।

स्टेप 6- तेल लगाने के बाद उंगलियों की मदद से बालों में मसाज करें।

स्टेप 7- एक बार लगाने के बाद 3 से 4 घंटे तक बालों को ना धोएँ।

स्टेप 8- उसके बाद किसी सौम्य शैम्पू से बालों को धो लें।

स्टेप 9- अगर बाल कम झड़ते हैं तो सप्ताह में तीन बार दो दो दिन के अंतराल पर इस्तेमाल करें। अगर बाल बहुत अधिक झड़ रहे हैं तो सप्ताह में चार बार एक एक दिन के अंतराल पर प्रयोग करें।

 

4. इंदुलेखा तेल के बारे मे जानें कुछ ज़रूरी बातें

इंदुलेखा तेल के बारे मे जानें कुछ ज़रूरी बातें

  1. इंदुलेखा आयुर्वेदिक तेल है, इसलिए इससे कोई नुकसान नहीं होता। इसकी तेज़ गंध कई बार लोगों को बर्दाश्त नहीं होती, लेकिन यह पूरी तरह से सुरक्षित है।
  2. इसे रातभर बालों में लगाकर सो सकते हैं, इसमें कोई नुकसान नहीं है।
  3. इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है कि हर किसी को इससे फायदा एक समान हो, ये जरूरी नहीं है।
  4. इस तेल का रिजल्ट एकदम से नहीं होगा, आपको लंबे समय तक इसका प्रयोग करना होगा।
  5. इन्दुलेखा तेल से मालिश हर दिन न करें, हफ़्ते में दो या तीन बार मसाज करने से ही आपको इसका सही रिज़ल्ट मिल सकता है।