जानें क्या है सल्फेट फ्री शैम्पू

Written by Suman SharmaNov 30, 2023
जानें क्या है सल्फेट फ्री शैम्पू

हम में से हर किसी को इस बात की राय दी जाती रही है कि अपने बालों को हेल्दी रखने के लिए हमें सल्फेट फ्री शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन सल्फेट आखिर हैं क्या ? अगर सामान्य तरीके से कहा जाये तो यह शैम्पू को क्लीन करने वाले कंपाउंड होते हैं, जो गंदगी और तेल को सतह पर ही साफ कर देते हैं। यह आपके हाउस होल्ड प्रोडक्ट्स में भी होते हैं, जैसे कि डिटर्जेट में यह झाग बनाने का काम करते हैं। सल्फेट्स के तीन मुख्य प्रकार होते हैं, सल्फेट्स हेयर क्लींज़र्स के लिए इस्तेमाल होने वाला सल्फेट सोडियम लौरेथ सल्फेट, सोडियम लॉरल सल्फेट और अमोनियम लौरेथ सल्फेट है। इन क्लींज़र्स को जिस भाग में रखा जाता है, उन्हें अनिओनिक सरफेक्टेंस कहा जाता है और यह तेल और गंदगी को दूर करने का काम करता है। इसे आसानी से धोया जा सकता है। शैम्पू में जिस तरह का सल्फेट इस्तेमाल होता है, वह इंटेंसिटी के आधार पर काफी अलग होता है। लेकिन इन सबकी वजह से आपके स्कैल्प में जलन होती है।

 

सल्फेट आपके स्कैल्प को किस तरह प्रभावित करता है

सल्फेट फ्री हेयर केयर रूटीन को कैसे अपनाया जाये

शैम्पू में जिस तरह के सल्फेट का इस्तेमाल होता है, इससे शैम्पू को इस्तेमाल करने में आसानी होती है। इसके इस्तेमाल से आसानी से पानी में झाग बन पाता है और इससे शैम्पू करने की प्रक्रिया में भी आसानी होती है। सल्फेट वाले शैम्पू आसानी से पूरे बालों में लगाए जा सकते हैं, लेकिन इसका नकारात्मक प्रभाव स्कैल्प पर ज़रूर होता है।

इन कम्पाउंड की वजह से आपके स्कैल्प से गंदगी और तेल निकालने में आसानी होती है, यह इस तरह भी काम करते हैं कि आपके शैम्पू में मौजूद अन्य एक्टिव तत्व बालों में गहराई से काम कर सकें। लेकिन यह भी सच है कि आप इसको नियंत्रित नहीं कर सकते हैं कि इन कंपाउंड से कितनी मात्रा में तेल निकलेगा , जिसका मतलब है कि आपके स्कैल्प को हेल्दी रखने के लिए, नेचुरल ऑयल को भी हटाना ज़रूरी है। आपका स्कैल्प जब नेचुरल मॉइस्चर से छुटकारा पाता है, तो इसकी वजह से स्कैल्प में काफी ड्राईनेस और जलन शुरू हो जाती है।

 

क्या सल्फेट हर तरह के बालों के लिए खराब होता है

सल्फेट फ्री हेयर केयर रूटीन को कैसे अपनाया जाये

स्किन की तरह ही आपके बालों का भी अपना टाइप होता है। स्किन की तरह ही अलग-अलग तरह के बाल भी अलग-अलग चीजों पर अलग तरीके से रिस्पॉन्स देते हैं।  ऐसे में  अत्यधिक ऑयली, परतदार या पपड़ी या चिकनाई युक्त स्कैल्प के लिए सल्फेट्स अच्छे होते हैं, अगर इन्हें सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो।  लेकिन कुछ बालों के लिए यह अच्छे नहीं भी होते हैं। जिनके ऐसे हेयर टाइप होते हैं, ये सल्फेट्स के साथ अच्छा काम नहीं करते हैं।
1. सेंसिटिव स्कैल्प
अगर आप स्कैल्प की सेंसिटिविटी से परेशान हैं, सल्फेट के इस्तेमाल से कुछ समस्याएं, जैसे- जलन, खुजली, रेडनेस और क्रैकिंग जैसी समस्याएं और बढ़ जाती हैं।  यह खासतौर से सेंसिटिव स्किन जैसे जिन्हें एक्जिमा है या सोरिएसिस की समस्या है, उनके लिए  यह और अच्छा नहीं होता है।
2. ड्राई और घुंघराले बालों के लिए
नेचुरल हेयर टेक्चर जो भी होते हैं, वह कर्ली या घुंघराले, ड्राई या फ्रिजी होते हैं। उन्हें हर हाल में सल्फेट्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसे बालों में हमेशा पोर्स अधिक हो जाते हैं और सल्फेट इसे और बढ़ा सकते हैं। ऐसे बालों के प्रकार में बालों के टूटने की परेशानी भी शुरू हो सकती है।
3. डाई किये हुए या फिर केमिकल इस्तेमाल किये गए बाल
सल्फेट्स कलर्ड किये हुए बाल और केमिकल इस्तेमाल किये गए बालों पर बुरी तरह से प्रभाव डालता है। उसमें जो कम्पाउंड होता है, उसकी वजह से बालों पर जो कलर चढ़ा हुआ है, वह उसे कम करता जाता है और इसकी वजह से बाल ब्रासी और खराब दिखने लगता है।  स्ट्रेट किये हुए बाल और बालों में अगर हीट किया गया हो तो उन बालों में भी इससे बड़ा डैमेज होता है। इसलिए अधिक डाई किये गए बाल खराब होते जाते हैं।

 

 

सल्फेट फ्री हेयर केयर रूटीन को कैसे अपनाया जाये

सल्फेट फ्री हेयर केयर रूटीन को कैसे अपनाया जाये


अगर आपने तय किया है कि आप सल्फेट फ्री हेयर केयर रूटीन अपनाएंगे , तो कुछ बातों पर ध्यान देना चाहिए। सल्फेट फ्री वाले प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं:
1. सल्फेट-फ्री शैम्पू खरीदने से पहले अपने बालों के टाइप पर ध्यान दें। ऑयली हेयर वालों  को अपने स्कैल्प को फ्रेश रखने के लिए ग्रीन टी और वेटिवर जैसी चीजों की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, प्लांट बेस्ड क्लींजिंग चीजों की लेबल की जांच करनी भी ज़रूरी है,  जो आपके स्कैल्प को बिना ड्राई हुए, प्रभावशाली तरीके से  साफ कर देगा।
2. चूंकि सल्फेट-मुक्त शैंपू से झाग नहीं बनाते हैं, इसलिए आपको उन्हें अपने बालों में लगाने से पहले, अपनी हथेलियों में जितना संभव हो उतना अच्छी तरह से फैला लेना चाहिए । इसके अलावा, इस बात का ध्यान रखें कि इसे लगाने से पहले आपके बाल हमेशा गीले होने  चाहिए, ताकि आपके स्कैल्प में इसे बहुत रगड़ने की ज़रूरत न पड़े। आपको शैम्पू को पूरे बालों में फैलाने के लिए बहुत अधिक पानी की ज़रूरत होगी।
3. आप सल्फेट फ्री शैम्पू को यूं ही बालों में नहीं लगा सकते। जो भी प्लांट्स बेस्ड चीजें हैं, यह आपके स्कैल्प को क्लीन कर रही है या नहीं, इस बात का भी ध्यान रखें।  ऐसे प्रोडक्ट्स को आपको अपने स्कैल्प से धोने से पहले कम से कम तीन मिनट तक जरूर मसाज करना होगा। यह भी ध्यान रखें कि शैम्पू केवल स्कैल्प पर ही लगाएं। इसे थोड़ा मसाज करें और फिर इसे पानी से अच्छी तरह से धो लें। आपको बालों को  उसके सिरे तक धोने की ज़रूरत नहीं है।

 

Suman Sharma

Written by

Author at BeBeautiful
2820 views

Shop This Story

Looking for something else