यदि आप चाहते हैं कि आपके बाल मज़बूत, घने और स्वस्थ दिखें तो इसके लिए आपको लगातार बालों के लिए कोशिश करनी होगी। लेकिन यदि आपको ये सब करने में थोड़ा आलस आता है और आपके लिए इस सब कामों के लिए वक्त निकालना मुश्किल होता हो, तो भी कोई बात नहीं। क्योंकि आपके लिए हमारे पास है एक बहुत ही प्रभावशाली हेयर केयर तरीका, जिसे कहते हैं टर्बन थेरेपी। इस थेरेपी से आप सिर्फ 15 मिनट में पा सकेंगी खूबसूरत और स्वस्थ बाल।

 

क्या है टर्बन थेरेपी

क्या है टर्बन थेरेपी

हॉट टर्बन थेरेपी एक ऐसा तरीका है, जिसमें बालों को गरम तौलिये से स्टीम दी जाती है। इसके लिए आपको ज़रूरत है एक पोषक तेल, जैसे कैस्टर ऑयल, रोज़मेरी ऑयल, विटामिन ई या बादाम के तेल की। इनमें से किसी भी तेल को थोड़ी-सी मात्रा में लें और नारियल तेल में मिला लें। अब कॉटन की मदद से बालों की जड़ों में लगा लें और एक गरम तौलिये को सिर पर लपेट लें। स्टीम से हेयर फॉलिकल खुल जाएंगे और जो एसेंशियल ऑयल आपने लगाया है वो गहराई में जाकर बालों को अंदर तक पोषण देंगे और आपके बाल बनेंगे मज़बूत और स्वस्थ।

 

हॉट टर्बन थेरेपी के फ़ायदे

हॉट टर्बन थेरेपी के फ़ायदे

  • हॉट टर्बन थेरेपी से बालों की जड़ों में से टॉक्सिन्स बाहर आ जाते हैं। इससे सिर की त्वचा में ब्लड फलो बढ़ता है, जिससे बालों की ग्रोथ अच्छी होती है।
  • इससे आपके बालों को एसेंशियल ऑयल का पूरा फ़ायदा मिलता है।
  • हॉट टर्बन थेरेपी से आपके बालों में मोइश्चर को एब्ज़ोर्ब करने की क्षमता बढ़ जाती है, जिससे आपके बालों का टूटना कम होता है। इसका कारण ये है कि जिन बालों में नमी होती है वो लचीले होते हैं और उनकी इलास्टिसिटी बढ़िया होती है।\
  • यदि अपने बालों को केमिकली ट्रीट किया है जैसे, स्ट्रेटनिंग, पर्मिंग या कर्लिंग तो आपको अपने बालों को हाइड्रेट करने की बहुत ज़रूरत है। इसके लिए हॉट टर्बन थेरेपी कारगर उपाय है। यह आपके बालों को पोषण देगी और उन्हें नर्म व मुलायम बनाएगी, जिससे वो आसानी से मैनेज हो सकें।

कितनी बार करना चाहिए हॉट टर्बन थेरेपी?

यह निर्भर करता है इस बात पर कि आपके बालों की कंडीशन कैसी है। यदि आपके बाल स्वस्थ हैं तो आप महीने में सिर्फ़ एक बार ये थेरेपी करें। यदि आपके बाल रूखे व कमज़ोर हैं और इन्हें बहुत ज़्यादा हयड्रेशन की ज़रूरत है, तो आपको यह थेरेपी 7-10 में करना चाहिए।