हर लड़की चाहती है कि उसके बाल स्वस्थ, घने और कंधों से नीचे तक लंबे हों, पर पर्यावरण में मौजूद प्रदूषण के चलते बालों को होने वाले नुक़सान के चलते बाल अस्वस्थ होकर झड़ने लगते हैं... और यहीं से आपका लंबे और घने बालों का सपना टूटने लगता है. पर अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि हम यहां आपको बालों को स्वस्थ बनाए रखने के साथ-साथ बाल उगाने के उपाय से भी आपको रूबरू करा रहे हैं. यहां आप जानेंगी बालों को बढ़ाने के लिए घर पर ही आपक कैसे बना सकती हैं तेल और यह भी कि बालों को बढ़ाने वाली खानपान की कौन-सी चीज़ों को अपने रूटीन में अपना कर आप बालों को स्वस्थ बनाने की दिशा में सार्थक क़दम बढ़ा सकती हैं. तो लीजिए, हम सीधे ही मुद्दे पर आ जाते हैं...

बाल उगाने के उपाय: घर पर बनाएं बालों के लिए फ़ायदेमंद ये तेल

बाल उगाने के उपाय: अपने खानपान में इन खाद्य पदार्थों को करें शामिल

बाल उगाने के उपाय: घर पर बनाएं बालों के लिए फ़ायदेमंद ये तेल

दादी मां के घरेलू नुस्ख़ों के कारगर होने पर तो आपको भी पूरा भरोसा होगा, है ना? तो हम यहां आपको दादी मां के नुस्ख़ों से ही तो इन पांच तरह के हेयर ऑइल को बनाने के बारे में बता रहे हैं, जो बाल उगाने के उपाय तो हैं ही, पर बालों को स्वस्थ और सेहतमंद बनाए रखने का भी काम करते हैं:

करी पत्ते + नारियल का तेल
 

करी पत्ते + नारियल का तेल

भारतीय किचन में हमेशा मौजूद रहने वाले करी पत्ते बालों के स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन इन्ग्रीडिएंट हैं. इसमें बालों को पोषण देने वालो सभी आवश्यक न्यूट्रिएंट्स हैं. ऐंटीऑक्सिडेंट्स और अमीनो ऐसिड्स हैं, जो हेयर फ़ॉलिकल्स को मज़बूत बनाकर बालों को पतला होने और गिरने से रोकते हैं. करी पत्तों में प्रचुर मात्रा में बीटा-कैरोटीन और प्रोटीन्स होते हैं, जो बाल उगाने की प्रक्रिया को तेज़ करते हैं.

कैसे करें इस्तेमाल?

कुछ करी पत्तों को लेकर दो दिनों तक धूप में सुखाएं. अब 100 मिली नारियल का तेल लें, इसमें ये सूखे करी पत्ते डाल कर तेल को उबाल लें. अब आंच बंद कर के इसे ठंडा होने दें. ठंडा होने पर इसे छानें और इस मिश्रण से अपने स्कैल्प की मालिश करें.

कलौंजी + ऑलिव/नारियल का तेल
 

कलौंजी + ऑलिव/नारियल का तेल

दादी मां के नुस्ख़ों में शामिल बाल उगाने के उपाय में से एक कारगर उपाय के नैसर्गिक इन्ग्रीडिएंट में कलौंजी भी शामिल है. कलौंजी के इन दानों में विटामिन A, B और C प्रचुर मात्रा में होते हैं. यही नहीं, इनमें मैग्नीशियम, ज़िंक, आयरन, पोटैशियम और आवश्यक फ़ैटी ऐसिड्स जैसे पोषक तत्व भी होते हैं. ये सभी आपको हर समस्या से मुक्त, सेहतमंद बाल देने में सक्षम होते हैं. जब कलौंजी के दानों को अपने हेयर ऑइल के साथ मिलाइए और बालों को जल्दी बढ़ाने का नायाब नुस्ख़ा आपके पास मौजूद है. आप यह जानकर और भी ज़्यादा ख़ुश हो जाएंगी कि यह मिश्रण बालों के स्प्लिट एंड्स को दूर करता है और बालों की कंडिशनिंग भी करता है.

कैसे करें इस्तेमाल?

एक टेबलस्पून कलौंजी के दानों को ब्लेंडर में ब्लेंड करें. एक बॉटल में ऑलिव ऑइल (जैतून का तेल) या नारियल का तेल भरें और इसमें कलौंजी का पाउडर मिलाएं. इसे दो-तीन दिन तक रखा रहने दें, इसके बाद यह तेल इस्तेमाल के लिए तैयार हो जाएगा. अब जब भी आपको इसका इस्तेमाल करना हो इसकी थोड़ी मात्रा को लेकर गर्म करें और इससे बालों और स्कैल्प पर मालिश करें.

कपूर + कैस्टर ऑइल + ऑलिव ऑइल
 

कपूर + कैस्टर ऑइल + ऑलिव ऑइल

इस बात को ध्यान में रखते हुए कि कपूर बालों और त्वचा दोनों से ही जुड़े विकारों को दूर करने में बहुत लाभदायक है, इस बात में कोई अचरज नहीं होना चाहिए कि यह आयुर्वेद के साथ-साथ दादी मां के नुस्ख़ों में भी महत्वपूर्ण स्थान रखता है. ऐंटीसेप्टिक और ऐंटीऑक्सिडेंट गुणों से परिपूर्ण कपूर बालों के क्यूटिकल्स को मज़बूत बनाता है और रूखे बालों को पोषण देता है. यह बालों को घना दिखाता है और उनकी आभा को निखारता है. इसके अलावा कपूर डैंड्रफ़ और बालों को झड़ने से रोकने में भी कारगर होता है.

कैसे करें इस्तेमाल?

कपूर का तेल, कैस्टर ऑइल (अरंडी का तेल) और ऑलिव ऑइल को समान मात्रा में मिलाकर एक बॉटल में भर लें. जब इस्तेमाल करना हो तो इसे हल्का-सा गर्म करें और इससे अपने बालों की जड़ों, स्कैल्प और बालों की मालिश करें. गर्म करने से यह बालों में आसानी से समाहित हो जाता है.

नीम + बादाम का तेल
 

नीम + बादाम का तेल

बालों की सबसे आम समस्या है डैंड्रफ़ यानी रूसी और हमारी दादी मांओं के पास इससे निपटने का भी नायाब नुस्ख़ा है. नीम में ऐंटीऑक्सिडेंट्स और फ़ैटी ऐसिड्स तो होते ही हैं, साथ ही यह ऐंटी-फ़ंगल और ऐंटी-इन्फ़्लैमटॉरी भी होता है. इसके यही चिकित्सकीय गुण आपके बालों को स्वस्थ और डैंड्रफ़ मुक्त बनाते हैं.

कैसे करें इस्तेमाल?

कुछ नीम की पत्तियों को दो दिनों तक धूप में सुखा लें. अब 100 मिली बादाम का तेल यानी आमंड ऑइल में इन सूखी नीम की पत्तियों को डालकर इसे गर्म करें. एक सप्ताह तक इन पत्तियों को तेल में डूबा रहने दें. कुछ दिनों में यह तेल हरे रंग का हो जाएगा, जिसका अर्थ है कि नीम के सत्व तेल में अच्छी तरह समा चुके हैं. अब इस तेल को छानें और यह इस्तेमाल के लिए तैयार है.

आंवला + ऑलिव ऑयल
 

आंवला + ऑलिव ऑयल

बालों को पोषण देने वाला सबसे लोकप्रिय इन्ग्रीडिएंट है आंवला, जिसमें भरपूर मात्रा में विटामिन C होता है, जो सुनिश्चित करता है कि आपके बाल काले और चमकदार बने रहें.

कैसे करें इस्तेमाल?

सूखे हुए आंवले के कुछ टुकड़ों को ऑलिव ऑइल के साथ मिला कर इस मिश्रण को उबालें. इस मिश्रण को एक सप्ताह के लिए अलग रख दें. अब इसे कांच की बॉटल में भर कर रख लें और अच्छे नतीजे पाने के लिए सप्ताह में दो बार इसे बालों पर लगाएं.

बाल उगाने के उपाय: अपने खानपान में इन खाद्य पदार्थों को करें शामिल

हमारे खानपान का सीधा संबध हमारे बालों की सेहत से भी होता है यानी सही खानपान आपके बालों को सेहतमंद बनाए रखेगा. यदि आप बाल उगाने के उपाय ढूंढ़ रही हैं तो अपने भोजन में इन खाद्य पदार्थों को शामिल करें और इसके नतीजे ख़ुद देखें.

अंडे
 

अंडे

अच्छी सेहत चाहती हैं तो ध्यान रखें कि नाश्ता कभी-भी न छूटे. नाश्ते में अंडे खाएं. प्रोटीन और बायोटिन जैसे दो आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर अंडे आपके बालों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

ऐवोकाडो
 

ऐवोकाडो

ऐवोकाडो को अपने सलाद में शामिल करने का यह सही समय है. ऐवोकाडो विटामिन E और ऐंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होते हैं. ये शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स को न्यूट्रलाइज़ कर के रक्त प्रवाह को बढ़ाते हैं, जिससे हेयर फ़ॉलिकल्स बढ़ते हैं. ये स्कैल्प को क्षतिग्रस्त होने से भी रोकता है.

सूखे मेवे
 

सूखे मेवे

सूखे मेवे यानी ड्राय फ्रूट्स में भरपूर मात्रा में आयरन, बायोटिन और सल्फ़र होता है, जो बालों को तेज़ी से बढ़ाने में कारगर है. बादाम में मौजूद ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फ़ैटी ऐसिड्स रक्त संचार बढ़ाने में कारगर होते हैं, जिनसे बाल बढ़ते हैं.

हरी पत्तेदार सब्ज़ियां
 

हरी पत्तेदार सब्ज़ियां

हरी पत्तेदार सब्ज़ियों में विटामिन A और C होता है, जो बालों के बढ़ने को गति देता है. पालक में आयरन और विटामिन C होता है, जो हेयर फ़ॉलिकल्स को सेहतमंद बनाता है. यदि आपके शरीर में आयरन की कमी है तो बालों में ऑक्सिजन और पोषक तत्वों का संचार प्रभावित होता है, जिससे बाल कमज़ोर बनते हैं.

बेरीज़
 

बेरीज़

छोटे रसभरे फल यानी बेरीज़ विटामिन से भरपूर होते हैं. इनमें ऐंटीऑक्सिडेंट्स गुण होते हैं. स्ट्रॉबेरी विटामिन C का अच्छा स्रोत हैं, जो बालों को बढ़ाने और डैंड्रफ़ को हटाने के लिए जाना जाता है.

हमें उम्मीद है कि प्राकृतिक रूप से बाल उगाने के उपाय के बारे में अब आपको इतनी जानकारी मिल गई होगी कि आप अपने बालों को अब हमेशा स्वस्थ, मज़बूत और चमकदार बनाए रख सकेंगी.