हमें पता है, सौंदर्य की डिक्शनरी में जिस तरह रोज़ाना नए शब्दों की बढ़ोतरी हो रही है आपका इस बात से परेशान होना लाज़िमी है कि इतने सारे उत्पादों में से अपनी त्वचा की सभी ज़रूरतों के मुताबिक़ कौन-सा ऐसा प्रसाधन चुनें, जो बेहतरीन हो. हमारे साथ भी बिल्कुल यही हुआ था, जब हमने बीबी और सीसी क्रीम के बारे में जाना. पर यक़ीन मानिए, इसका समाधान बिल्कुल आसान है! यहां हम पेश कर रहे हैं एक आसान-सी गाइड, जो आपको न सिर्फ़ बीबी और सीसी क्रीम के बीच का अंतर बताएगी, बल्कि उन्हें इस्तेमाल करने का सही तरीक़ा भी बताएगी...
 
 

अपनी बीबी और सीसी क्रीम को जानें:

अपनी बीबी और सीसी क्रीम को जानें:

बीबी यानी ब्यूटी बाम/ब्लेमिश बाम
ब्यूटी बाम या ब्लेमिश बाम का संक्षिप्त रूप है BB. बीबी क्रीम ऐसे टिंटेड मॉइस्चराइज़र की तरह है, जिसके भीतर त्वचा को फ़ायदा पहुंचाने वाले ढेर सारे गुण मौजूद हैं. ये केवल आपकी त्वचा को कोमल ही नहीं बनाती, बल्कि त्वचा की नमी और चमक बरक़रार रखते हुए धूप से आपकी त्वचा की सुरक्षा भी करती है. बीबी क्रीम मॉइस्चराइज़र और फ़ाउंडेशन के दोहरे फ़ायदों से भरी होती है. अत: जब आप इसे लगाकर मेकअप करती हैं तो मेकअप जहां चिकना नज़र आता है, वहीं लंबे समय तक चेहरे पर टिका भी रहता है. 

सीसी यानी कलर करेक्शन/कॉम्प्लेक्शन केयर 
कलर करेक्शन या कॉम्पलेक्शन केयर का संक्षिप्त रूप है CC. भारतीय लोगों की त्वचा की सबसे बड़ी समस्या है पैचीनेस यानी चेहरे की त्वचा की रंगत का असमान होना. यह क्रीम आपके चेहरे की इस समस्या को दूर करते हुए चेहरे की रंगत को एक समान बनाने का काम करती है. यह क्रीम चेहरे की लालिमा को भी छुपा लेती है. इसका मतलब यह हुआ कि यदि आप रोज़ाना कंसीलर का इस्तेमाल करती हैं तो सीसी क्रीम आपके लिए एक अच्छा विकल्प है. यहां यह जानना भी ज़रूरी है कि सीसी क्रीम का टेक्स्चर बीबी क्रीम की तुलना में हल्का होता है और इसलिए इसे लगाने पर त्वचा पर सॉफ़्ट मैट इफ़ेक्ट आता है.
 
बीबी और सीसी क्रीम के बीच अंतर
जहां सीसी क्रीम आपकी त्वचा को सेमी मैट और नैसर्गिक लगने वाला प्रभाव देती है, बीबी क्रीम आपको मैट, नमीयुक्त और चमकदार लुक देती है. सीसी क्रीम का टेक्स्चर बीबी क्रीम की तुलना में हल्का होता है. बीबी क्रीम अच्छे बेस का काम करती है और आपके रोज़ाना के लुक को कमाल का बना देती है. इसका इस्तेमाल आसान है. वहीं सीसी क्रीम उनके लिए है, जिनकी त्वचा में लालिमा या असमान रंगत की समस्या है. अत: आप अपनी त्वचा की ज़रूरत के मुताबिक़ बीबी या सीसी क्रीम का चुनाव कर सकती हैं.
 
इन्हें कैसे इस्तेमाल करें
यह बहुत आसान है- अपनी उंगलियों की सहायता से क्रीम अपने चेहरे और गर्दन पर लगाकर अच्छी तरह फैलाते हुए मिलाएं. इसके लिए आप फ़ाउंडेशन ब्रश का इस्तेमाल भी कर सकती हैं. यदि आप हमसे पूछेंगी तो हम आपको पॉन्ड्स वाइट ब्यूटी बीबी+ क्रीम/ Pond’s White Beauty BB+ cream और  लैक्मे सीसी क्रीम/Lakmé CC Cream के इस्तेमाल की सलाह देंगे. पॉन्ड्स वाइट ब्यूटी बीबी+ क्रीम /Pond’s White Beauty BB+ cream के भीतर मौजूद है विटामिन B3, विटामिन E और एसपीएफ़ 30 और यह दिन के लुक के लिए आपको तुरंत पूरा कवरेज देती है. लैक्मे सीसी क्रीम /Lakmé CC Cream में मौजूद है एसपीएफ़ 20, जो सूर्य की किरणों से त्वचा की सुरक्षा करने के साथ-साथ हल्का कवरेज भी देता है.

बीबी और सीसी दोनों ही क्रीमें आपकी त्वचा के साथ अच्छी तरह ब्लेंड हो जाती हैं और आपके चेहरे को एक समान, कोमल और चमकदार रंगत देती हैं. बस, आपको यही तय करना है कि अपनी ज़रूरत के मुताबिक़ कब आपको किस क्रीम का चुनाव करना है. तो क्या अब आप इन बेहतरीन प्रोडक्ट्स के साथ अपनी त्वचा को जादुई आकर्षण देने के लिए तैयार हैं? हां, बेहतरीन परिणाम पाने के लिए क्रीम लगाने से पहले मॉइस्चराइज़र लगाना न भूलें.