आप में से वे महिलाएं, जो दिनभर अपने बाल इसी दुविधा में जूड़े में बांधे रखती हैं कि उनके बाल ऑयली हैं, अब चिंतामुक्त हो सकती हैं... क्योंकि हम आगे आपकी इसी समस्या का समाधान सुझा रहे हैं!

तो यहां पेश है ऑयली बालों को अच्छी तरह संवारे रखने की पूरी की पूरी गाइड...

बालों के ऑयली होने का कारण

हर बाल के फ़ॉलिकल से जुड़ी एक सेबैशस ग्रंथी (ग्लैंड) होती है, बालों में प्राकृतिक मॉइस्चर बनाए रखने के लिए यह ग्लैंड सीबम लूब्रिकेंट स्रवित करती है. इसके बिना आपके बाल रूखे हो सकते हैं और आसानी से टूट भी सकते हैं. वहीं यदि सीबम का उत्पादन ज़्यादा होने लगता है तो आपके बाल ऑयली यानी तैलीय हो जाते हैं.

अमूमन आपके बालों का प्रकार ही तैलीय बालों के लिए ज़िम्मेदार होता है. यदि आपके बाल बहुत पतले और सीधे हैं तो सीबम आपकी बालों की जड़ों से आगे निकल जाता है और आपके बाल सामान्य से ज़्यादा तैलीय नज़र आने लगते हैं. इसके अलावा भी कई जैविक प्रक्रियाएं होती हैं, जो आपके बालों को बुरा दिखाने वाली चमक देती हैं- हार्मोनल बदलाव की वजह से भी सीबम का उत्पादन बढ़ जाता है और यह भी हो सकता है कि ऑयली बाल आपके जीन्स में ही हों...

 

बाल धोना हमेशा कारगर नहीं होता

बाल धोना हमेशा कारगर नहीं होता

अक्सर लोग मानते हैं कि रोज़ाना बाल धोने से बालों के ऑयली होने की समस्या का अंत हो सकता है, पर यह सही नहीं है. जब आप अपने बालों पर लगातार शैम्पू की बॉटल्स उड़ेलती हैं तो आपके बालों में मौजूद हर तरह का प्राकृतिक ऑयल बह जाता है. और सबसे ख़राब बात यह  कि इस कमी को पूरा करने के लिए सीबम का उत्पादन और अधिक बढ़ने लगता है, जिससे अंतत: आपके बाल और ऑयली हो जाते हैं. हालांकि हो सकता है कि ठंडे पानी से स्नान का ख़्याल भी आपको कंपकंपा देता हो, लेकिन ऑयली बालों से निजात पाने के लिए यह क़ुर्बानी तो आपको देनी ही होगी. दरअस्ल, ठंडा पानी सेबैशस ग्लैंड की सक्रियता को सीमित करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आपके बाल ऑयली न होने पाएं.

 

कभी-कभी स्कैल्प क्लीनिंग शैम्पू का इस्तेमाल करें

कभी-कभी स्कैल्प क्लीनिंग शैम्पू का इस्तेमाल करें

स्कैल्प और बालों में तेल के ख़तरनाक जमाव को हटाने के लिए महीने में एक बार अच्छे क्लैरिफ़ाइंग शैम्पू से बाल धोएं, ताकि बाल और स्कैल्प दोनों ही गहराई से साफ़ हो सकें. इनमें अक्सर सोडियम लॉरिल सल्फ़ेट होता है, जो ऐसा इन्ग्रीडिएंट है जो स्कैल्प और बालों से तेल को हटाने में मदद करता है.

 

ज़रूरत से ज़्यादा कंडिशनर न लगाएं

ज़रूरत से ज़्यादा कंडिशनर न लगाएं

हम आपको अपने बालों की रोज़ाना की देखभाल के लिए हल्के कंडिशनर के इस्तेमाल की सलाह देंगे. हैवी-ड्यूटी कंडिशनर आपकी सेबैशस ग्लैंड को ज़्यादा काम करने के संकेत भेज सकता है... अत: एक ऐसा कंडिशनर चुनें, जो इनके बीच कहीं हो- पर्फ़ेक्ट कंडिशनर आपके बालों को ड्राइ होने से रोकेगा और साथ ही आपके बालों में अवांछित नमी लाने से भी रोकेंगे. हमें पता है आपको यह सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन स्नान ख़त्म करने से पहले यह सुनिश्ति करें कि आप बालों पर लगा पूरा का पूरा कंडिशनर धुल जाए.

 

ड्राइ शैम्पू बनेगा आपका सच्चा साथी

ड्राइ शैम्पू बनेगा आपका सच्चा साथी

यह वो जादुई चीज़ है, जिसकी आपको बड़े समय से तलाश थी, ताकि आपके ऑयली बालों की समस्याओं (हम थोड़ा-सा ही बढ़ा-चढ़ा कर बता रहे हैं) का समाधान मिल जाए. यदि आपको ऐसा लगता है कि आपके बाल थोड़े ज़्यादा ही तैलीय दिख रहे हैं तो आपको अपने बालों पर बस थोड़ा-सा ड्राइ शैम्पू छिड़कना है, यह तुरंत ही अतिरिक्त तेल को सोख लेगा. यह दो विकल्पों में आता है स्प्रे और पाउडर. इसके इस्तेमाल से आपको लगेगा कि जैसे आप अपना ही नया अवतार हैं, क्योंकि आपके बाल घने, तरोताज़ा और ऑयल मुक्त जो नज़र आएंगे.

 

अलग-अलग स्टाइल्स ट्राइ करें

अलग-अलग स्टाइल्स ट्राइ करें

यदि आप कोई सरल तरीक़ा ढूंढ़ रही हैं तो यह आपके लिए है... केवल एक पोनीटेल बना लेने की देर है और जड़ों के आसपास के आपके तैलीय बाल अचानक ही ग़ायब नज़र आएंगे. बहुत सारे ऐसे तरीक़े हैं, जिनसे आप बालों में आई अवांछित तैलीय चमक को छुपा सकती हैं- हैडबैंड लगा सकती हैं, रंग-बिरंगा रूमाल बांध सकती हैं या फिर फ़ंकी लुक के लिए हैट लगा सकती हैं. आप किसी अच्छे टेक्स्चर स्प्रे में निवेश करें और बीची वेव्ज़ बना लें, ताकि आपके बालों की तैलीय जड़ें कम नज़र आएं. दूसरा आसान तरीक़ा यह भी है कि आप रात में ढीली चोटी गूंथकर सोएं और अपने बालों को कर्ली बना लें. सुबह उन्हें खुला छोड़ दें. इन सभी चीज़ों को अपनाने की कोशिश करने के बाद इस बात की पूरी संभावना है कि आप अपने बालों के लेकर प्रयोग करने से न झिझकने वाली महिला बन जाएं.

 

कुछ घरेलू उपाय अपनाएं!

कुछ घरेलू उपाय अपनाएं!

तैलीय बालों की समस्या से निजात दिलाने के कई कारगर प्राकृतिक इन्ग्रीडिएंट्स भी मौजूद हैं. यहां हम आपको उनमें से दो के बारे में बता रहे हैं:

  1. ऐलोवेरा

एक टीस्पून एलो वेरा जेल में एक टेबलस्पून नींबू का रस और एक कप पानी मिलाएं. इसे अपने बालों और स्कैल्प में लगाएं. यह स्कैल्प पर सीबम के उत्पादन को सीमित करता है.

  1. आर्गन ऑयल

आपको करना बस यह है कि आर्गन ऑयल से अपने बालों और स्कैल्प की मालिश करें और इसे बालों में एक घंटे के लिए लगा रहने दें. इसके बाद बालों को शैम्पू से धो लें. इससे यह तेल बालों के शाफ़्ट्स के आसपास लगेगा और सीबम के स्रवन को नियंत्रित करेगा.