अलसी (अलसी का बीज) का कई भारतीय घरों में रोजाना इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, आज भी अधिकतर लोग इसके बारे में नहीं जानते हैं। दरअसल, अलसी एक प्रकार के छोटे-छोटे बीजों को कहा जाता है, जो कई सारे पोष्टिक तत्वों से भरपूर होती है और इसके इन असीम फायदों का आप भी अंदाजा नहीं लगा सकते हैं। कई लोग तो यह भी नहीं जानते हैं कि जिन अलसी के बीजों का इस्तेमाल वो खाद्य पदार्थों में करते हैं, वो कई तरह की बीमारियों को दूर रखने में कारगर होते हैं। कोई बात नहीं, हम हैं ना आपको इससे अवगत कराने के लिए। आज हम आपको अपने इस लेख में अलसी के बीज (अलसी के गुण) के फायदों और नुकसान के बारे में बताने वाले हैं।

 

अलसी क्या है?

अलसी क्या है?

अलसी एक ऐसा पदार्थ है, जो हर किसी की किचन में मिल ही जाता है।अलसी, छोटे छोटे बीजों को कहा जाता है, जिसमें काफी सारे पौष्टिक तत्व होते हैं। अलसी को कई जगहों पर तीसी भी कहा जाता है, इसका सेवन इसके पाउडर के रूप में भी होता है। यह कई सारी बीमारियों के इलाज में फायदेमंद होती है। अलसी एक जड़ी बूटी है, इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड  होता है। इसे अंग्रेजी में फ्लेक्स सीड्स कहते हैं
और यह लीन सीड्स के रूप में भी जाना जाता है। यह एक फूल युक्त पौधा होता है, जिसे लिनुम यूसिटाटिसिमम कहते हैं और यह लिनेसी पौधों के परिवार से आता है।

आपको जानकर यह बात हैरानी हो सकती है कि, अलसी से बने क्लॉथ ही टेक्सटाइल इंडस्ट्री में लिनेन के रूप में जानी जाती है। इससे बनीं चादरें, अंडरक्लॉथ और टेबल लिनेन के लिए उपयोग किए जाते हैं। इसके तेल को अलसी के तेल के नाम से जाना जाता है। इसमें भरपूर फाइबर होता है। यह मुख्य रूप से न्यूजीलैंड में मिलता है।

अलसी का उपयोग कई सालों से औषधि के रूप में हो रहा है। पहले यह केवल ग्रामीण इलाकों में ही मशहूर था, लेकिन अब इसके सेहत के अनेक फायदों को देखते हुए बड़े शहरों के लोगों ने भी इसका सेवन शुरू किया है। इन दिनों सेलिब्रिटीज भी इसका खूब सेवन करते हैं। कई डाइटिशियन भी डायट में इसको शामिल करने को कहते हैं। महिलाओं के लिए अलसी बेहद फायदेमंद होता है,अलसी (flax seeds) में एक चम्‍मच पिसी हुई अलसी 7 ग्राम तक बन जाती है। इसमें 1.28 ग्राम प्रोटीन, 2.95 ग्राम फैट, 2.02 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1.91 ग्राम फाइबर, 17.8 मिग्रा कैल्शियम, 27.4 मि.ग्रा मैग्‍नीशियम, 44.9 मिग्रा फास्‍फोरस, 56.9 मिग्रा पोटैशियम, 6.09 माइक्रोग्राम फोलेट और 45.6 माइक्रोग्राम ल्‍यूटिन और जीएक्‍सेंथिन होता है

यह कई तरीके से सेहत को फायदे पहुंचाता है। तो आइए जानें इसके फायदे।

 

सेहत के लिए अलसी के फायदे

सेहत के लिए अलसी के फायदे

अलसी का सेवन करने से कई तरह की बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है।

1. अलसी के सेवन से हृदय रोग से मुक्ति मिलती है। अलसी कई गुणों से भरपूर है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं।

2. अलसी के सेवन से टाइप 2 डायबिटीज की समस्या खत्म होती है।

3. अलसी के बीज कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हैं। अलसी के बीज खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल का लेवल 6 से 11 प्रतिशत तक कम हो सकता है।

4. अलसी का नियमित सेवन करने से पाचन क्रिया अच्छी होती है, क्योंकि इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन शक्ति को बढ़ा कर कब्ज की समस्या को दूर करता है।

5. डाइटिशियन अलसी के सेवन की राय देते हैं, क्योंकि इससे वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है। यह फैट को घटाने का काम करता है। अलसी में जो अमीनो एसिड होता है, उससे वजन आसानी से घटता है।

6. यदि आपको ऑस्टियोआर्थराइटिस, रुमेटीइड गठिया है तो अलसी के तेल का उपयोग करें।

7. जिन महिलाओं को हार्मोनल समस्या है, उनके लिए अलसी का सेवन फायदेमंद है। इसके सेवन से अनियमित पीरियड की परेशानी खत्म हो जाती है, साथ ही यह एस्ट्रोजन के लेवल को भी काफी कंट्रोल करता है। अगर महिलाओं को अधिक ब्लीडिंग की समस्या होती है, तो उसको कंट्रोल करने मेंं भी अलसी का सेवन फायदेमंद होता है। पीरियड के कारण होने वाले दर्द को, घबराहट या मूड स्विंग जैसी चीजों को भी अलसी ठीक करती है।

8. अलसी कई तरह के कैंसर को भी ठीक करने में मदद करता है।अलसी के बीज ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट और पेट के कैंसर के जोखिम को कम करती है। अलसी के बीज में लिगनन का अधिक स्तर होता है। यह स्तन में कैंसर के लिए जिम्मेदार एन्जाइम से रक्षा प्रदान करता है। इसके अलावा अलसी के बीज के पाउडर और तेल में भी काफी अधिक मात्रा में लिगनन होता है।

9. अलसी महिलाओं की मेनोपोज वाली समस्या को भी कम करता है।

10. अलसी में अल्फा लाइनोइक एसिड पाया जाता है, जो ऑथ्राईटिस, अस्थमा की परेशानी से राहत देता है।

 

त्वचा के लिए अलसी के फायदे

त्वचा के लिए अलसी के फायदे

अलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट स्किन के लिए फायदेमंद होता है और यह स्किन में कोलेजन प्रोडक्शन को बढ़ाता है और नए सेल्स का निर्माण करता है। अलसी स्किन संबंधित कई परेशानियों से छुटकारा दिलाता है।

1. अलसी स्किन टाइटनिंग के लिए बहुत उपयुक्त है। इसके लिए आप एक पैन में आधा कप पानी और दो चम्मच अलसी के बीज डाल कर उबाल लें और फिर इसे तीन से चार घंटे ढंक दीजिए। इसके बाद आप गौर करेंगे कि एक गाढ़ा जेल तैयार हो गया है, अब आप इस जेल को चेहरे पर आसानी से लगा सकते हैं। जब आपकी स्किन ड्राई हो जाए तो इसको धो लें। इसके बाद चेहरे में कोई सीरम या ऑयल लगा लें। इससे स्किन में ब्रेक आउट नजर नहीं आयेंगे।

2. अलसी के पाउडर में मुल्तानी मिट्टी, थोड़ा-सा नींबू व शहद मिलाकर चेहरे व गर्दन पर लगा लें। इससे आपके चेहरे में मुंहासे कम होते जाएंगे।

3. ड्राई स्किन के लिए अलसी का पाउडर, हल्दी और पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं। इससे स्किन हायड्रेट हो जाएगी।

4. स्किन पर ग्लो लाना है तो अलसी काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। अलसी के बीज को भून कर, इसे एयर टाइट कंटेनर में रख दें। फिर सुबह के समय इसका सेवन करें तो इससे स्किन सेहतमंद होती है।

5. विटामिन ई और अलसी पाउडर को अच्छी तरह मिला लें, फिर उसको जेल की तरह इस्तेमाल करें, इससे स्किन में होने वाले दाग धब्बे सब खत्म हो जाते हैं।

6. झुर्रियों को खत्म करना है तो उसके लिए अलसी पाउडर में पानी मिला कर, रात में सोने से पहले चेहरे पर लगा लें, फिर जब वह ड्राई हो जाए तो चेहरा अच्छी तरह धो लें। इससे चेहरे में जलन या खुजली की समस्या होगी तो वह धीरे-धीरे खत्म हो जाती है।

7. चेहरे पर अगर रैशेज हो जाए तो आपको अलसी के तेल का उपयोग चेहरे पर लगाना चाहिए। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होता है, इसलिए इससे आपकी स्किन में रैशेज या सूजन जैसी समस्या दूर होती है।

8. अगर आप एंटी एजिंग स्किन चाहते हैं तो अलसी के तेल को रात में सोते वक्त लगाइए। इससे स्किन में कसाव आएगा।

 

बालों के लिए अलसी के फायदे

बालों के लिए अलसी के फायदे

अलसी न सिर्फ आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है, बल्कि अलसी का उपयोग करने से आपके बाल सेहतमंद हो जाते हैं। अलसी से बना हेयर जेल बालों के लिए बहुत फायदेमंद रहता है।

1. अलसी में भरपूर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है, जो बालों को पोषण देता है। अलसी के तेल को अगर नियमित रूप से बालों में लगाया जाए, तो बाल मजबूत होते हैं और बढ़ते भी हैं।

2. अगर आपको बालों के टूटने और दोमुंहे होने की समस्या है, तो अलसी के तेल को नियमित रूप से जड़ों में लगाएं।

3. अलसी में जो ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, वह बालों में चमक को बरकरार रखता है।

4 . बालों में अगर डैंड्रफ की समस्या है, तो अलसी को पीसकर जड़ों में लगाने से डैंड्रफ की परेशानी खत्म हो जाती है।

5. बालों का वॉल्यूम बढ़ाने के लिए अलसी का हेयर मास्क फ़ायदेमंद होता है। इसके लिए  अलसी के सीड्स को पीस लें, फिर इसमें दही, शहद और नींबू का रस मिला लें। 45 मिनट तक रखें और उसके बाद ठंडे पानी से धो लें

6. अगर सिर में खुजली, रेडनेस या जलन वाली परेशानी है तो अलसी का मास्क लगाना बालों के लिए फायदेमंद होता है।

 

अलसी से जुड़े सवाल-जवाब

अलसी से जुड़े सवाल-जवाब

1. सवाल: किस समय अलसी खाना अच्छा होता है?

जवाब: हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अलसी को सुबह खाली पेट, दोपहर के खाने में या रात के भोजन में भी खा सकते हैं। अगर आप सुबह-सुबह इसका सेवन कर रहे हैं तो 1 चम्मच अलसी के पाउडर को हल्के गर्म पानी के साथ लें।

2. सवाल: क्या अलसी को पीसकर खाना चाहिए?

जवाब: अलसी का सेवन आप कच्चा भी कर सकते हैं। वास्तव में, अलसी के बीज के ऊपर भूरे रंग का एक कवर होता है, जिसको डाइजेस्ट करना कठिन होता है, इसलिए इसको पीस कर या हल्का भून कर खाने की राय दी जाती है। इसके अलावा इसे 5 मिनट भूनकर इसका सेवन कर सकते हैं।

3. सवाल: अलसी का सेवन कब नहीं करना चाहिए?

जवाब: अगर लूज़ मोशन हो जाए तो उसमें अलसी का उपयोग सही नहीं होता है। अलसी के अत्यधिक सेवन से आंतों में ब्लॉकेज की समस्या भी आती है। इसके अलावा अत्यधिक अलसी के सेवन से कई लोगों को एलर्जी की समस्या हो जाती है।

4. सवाल: क्या गर्भवती महिला को अलसी का सेवन करना चाहिए?

जवाब: अगर आप प्रेगनेंट हैं या प्रेगनेंसी की प्लानिंग कर रही हैं तो अपने डॉक्टर से पूछ कर ही अलसी का सेवन करें।

5. सवाल: क्या दिल के मरीज़ और शुगर के मरीज़ भी अलसी का सेवन कर सकते हैं?

जवाब: अगर आप दिल के मरीज़ हैं और खून को पतला करने की दवा ले रहे हैं, तो अलसी का उपयोग करना आपके लिए सही नहीं है। आप शुगर के मरीज हैं, तो अलसी का नियमित और कंट्रोल मात्रा में ही सेवन करें। आप किसी तरह के मेडिकेशन पर हैं, तब भी आपको अलसी के पाउडर का सेवन डॉक्टर से सलाह लेने पर करनी चाहिए।