बालों का झड़ना एक बड़ी समस्या है, जिससे कई लड़कियां परेशान रहती हैं। घरेलू नुस्खे और कई प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने के बावजूद इस परेशानी को जड़ से मिटा पाना मुश्किल होता है। लेकिन निराश होने के कोई बात नहीं है। हमारे पास हर समस्या का इलाज़ है और अब जो हम आपको बताने जा रहे हैं वो न सिर्फ बालों के लिए, बल्कि आपके सेहत के लिए भी सटीक उपाय है। हम बात कर रहे हैं प्राचीन काल से चले आ रहे योगा की, जो हर मर्ज़ का इलाज़ है। जी हां, ऐसे कई योगासन हैं, जिन्हें करने से बालों का झड़ना रोका जा सकता है। तो आइये, आज कुछ ऐसे ही योगासन के बारे में जान लेते हैं।

 

1. अधोमुख शवासन

अधोमुख शवासन

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस आसन को कुत्ते की मुद्रा में झुकने वाला आसन कहा जाता है, क्योंकि इसमें कुत्ते की तरह आगे की तरफ झुकना होता है। इस आसन को करने से सिर में ब्लड सर्क्युलेशन बढ़ता है, साथ ही सायनस या ज़ुकाम जैसी परेशानियों से भी आराम मिलता है। दिमागी थकान कम हो जाती है और बालों का झड़ना रुकता है।

 

2. उत्तानासन

उत्तानासन

इस आसन से थकान और कमज़ोरी दूर होती है और सिर में ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है, जिससे बालों की समस्या दूर होती है।

विधि: सीधे खड़े रहें, दोनो पैरों में लगभग एक मीटर का अंतर रखें। दोनों पैरों को बाहर की ओर मोड़ें और दोनों हाथों की अंगुलियों को आपस में मिला लें। बाजू को सीधा और ढीला रखें और सांस भर लें। अब सांस छोड़ते हुए घुटने मोड़ते हुए इतना नीचे बैठें कि हाथों की अंगुलियां ज़मीन से स्पर्श हो जाएं, परन्तु आगे न झुकें, रीढ़ को सीधा रखने का प्रयास करें।

 

3. पवन मुक्तासन

पवन मुक्तासन

पवन मुक्तासन से न केवल आपके बालों का झड़ना रुकता है, बल्कि आपके पेट और कूल्हों की चर्बी भी कम होती है। साथ ही यह गैस की समस्या से भी निजात दिलाता है।

विधि: आसान पर पेट के बल लेट जाएं। अपने बाएं घुटने को मोड़ें और पेट के पास तक ले जाएं। अब सांस छोड़ते हुए अपने दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में फंसायें और घुटनों के नीचे रखें और उनकी सहायता से अपने बाएं घुटने से सीने को छूने की कोशिश करें। इसके बाद अपना सिर जमीन से ऊपर उठाएं और घुटने से नाक से छूने की कोशिश करें। सिर को ऊपर उठाने और नाक को घुटनों से छूने के बाद 10 से 30 सेकेंड तक इसी मुद्रा में बने रहें और धीरे-धीरे सांस छोड़ें। अब यही पूरी प्रक्रिया दाएं पैर से भी करें। 3 से 5 बार इस आसान को दोहराएं।

 

4. सर्वांगासन

सर्वांगासन

बालों का झड़ना बहुत हद तक आपके हार्मोन्स पर भी निर्भर करता है। अगर आपको हार्मोनल प्रॉब्लम है तो आपके बाल झड़ेंगे, इसलिए ज़रूरी है कि हार्मोनल परेशानी को दूर किया जाए, जैसे कि थायरोइड की बीमारी, जो हार्मोन्स इम्बैलेंस के कारण होती है और इससे बाल झड़ते हैं। इसलिए थायरोइड को ठीक करने में यह आसन बहुत मदद करता है।

विधि: सबसे पहले अपनी पीठ के बल सीधे लेट जाएं। धीरे-धीरे अपने पैरों को 90 डिग्री पर ऊपर उठाएं। धीरे से सिर को अपने पैरों की तरफ लाने का प्रयास करें। अब ठोड़ी को सीने से सटा कर रखें। 30 सेकंड तक इसी मुद्रा में रहें और फिर धीरे-धीरे पुरानी स्तिथी में वापस आ जाएं।

 

5. वज्रासन

वज्रासन

वज्रासन कई बीमारियों और परेशानियों से निजात दिलाने में सहायक होता है। अगर आपकी पाचन क्रिया ठीक होगी तो बाल झड़ना खुद-ब-खुद रुक जाएगा। इसलिए यह आसन करना चाहिए। हर दिन कम से कम 10 मिनट भी इसे किया जाए तो काफी फायदा होता है।

विधि: आसन पर दोनों पैरों को घुटनों से मोड़कर दोनों एड़ियों पर बैठ जायें । पैर को दोनों अंगूठे परस्पर लगे रहें । पैर के तलवों के ऊपर नितम्ब रहे । कमर और पीठ बिल्कुल सीधी रखें। दोनों हाथ को कुहनियों से मोड़े बिना घुटने पर रख दें । हथेलियां नीचे की ओर रहे । नज़र सामने रखें।

 

6. प्राणायाम बनाए बालों की सेहत

प्राणायाम बनाए बालों की सेहत

बालों की सेहत के लिए आसान के साथ आपको कुछ प्राणायाम भी करने चाहिए:

1) कपालभाति -

यह प्राणायाम मस्तिष्क को ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करती है। यह शरीर की तंत्रिका में ऊर्जा पहुंचाती है और शरीर में से जो भी टॉक्सिन्स हैं, उसे बाहर निकाल देती है। इसे करने से बालों का झड़ना तो रुकता ही है, साथ ही मोटापे और मधुमेह का भी उपचार हो जाता है।

विधि: पद्मासन या सुखासन में बैठ जाएं और अपने कमर, गर्दन, पीठ एवं रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें। अब अपनी आंखों को बंद कर लें और पेट को ढीला छोड़ दें। नाक से सांस अंदर भरें और ज़ोर से सांस बाहर फेंकें ऐसा करते समय पेट को अंदर की तरफ खींचे। इस प्रक्रिया को दोहराएं।

भस्त्रिका प्राणायाम

2) भस्त्रिका प्राणायाम -

यह प्राणायाम सिर्फ आपके बालों का ही ख़याल नहीं रखता, बल्कि यह शरीर से कफ निकालता है और पूरे शरीर को शुद्ध कर देता है और इसकी वजह से आपका शरीर फिट रहता है और बालों का झड़ना बंद हो जाता है।

विधि: पद्मासन या सुखासन में बैठ जाएं और अपने कमर, गर्दन, पीठ एवं रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें। अब ज़ोर से सांस अंदर भरें और बाहर छोड़ें। फिर से तेज गति से सांस भरें और बाहर छोड़ें। इस क्रिया को दोहराएं।

3) नाड़ी शोधन प्राणायाम -

यह प्राणायाम करने से बालों के जड़ मजबूत होते हैं और इसके अलावा अगर आप अस्थमा, गठिया, तनाव, सिरदर्द जैसी परेशानियों से परेशान हैं तो उसमें भी आराम मिलता है।

विधि: पद्मासन में बैठे। बायीं नाक से सांस अंदर भरें और दायीं से छोड़े, फिर दायीं से भरें और बायीं से छोड़ें। इसी प्रकार 5-7 मिनट इसका अभ्यास करें। कोशिश करें कि जितना समय सांस लेने में लगे, उतना ही समय छोड़ने में भी लगे।

 

7. बालों का झड़ना रोकने के लिए कुछ घरेलू उपाय

बालों का झड़ना रोकने के लिए कुछ घरेलू उपाय

  • बालों को नियमित रूप से धोना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि बालों में धूल-मिटटी और गंदगी चिपकती है, जिससे बाल खराब होते हैं। इसलिए ज़रूरी है कि आप किसी अच्छे शैम्पू से या फिर हफ्ते में एक बार छाछ से अपने बालों को धोएं, इससे बालों का झड़ना रुक जाता है।
  • एलोवेरा बालों के लिए काफी अच्छा होता है, इसे बालों में लगाकर आधे घंटे तक रखें और फिर पानी से बाल धो लें। हफ्ते में तीन बार ऐसा करने से बालों से संबंधित कई परेशानियों से छुटकारा आसानी से मिल जाता है।
बालों का झड़ना रोकने के लिए आसन के साथ कुछ घरेलू नुस्खे

  • बालों में मेहंदी लगाने की परंपरा लम्बे समय से चली आ रही है, इसमें कॉफी पाउडर, दही, अंडा मिला कर लगाया जाए तो काफी फायदा होता है।
  • पौष्टिक आहार और अच्छी नींद बालों की सेहत के लिए बहुत ज़रूरी है।
  • समय-समय पर बालों की तेल से अच्छी तरह से मालिश करें, ताकि बालों की सेहत बनी रहे।
  • आपको साफ़ सुथरी और अच्छी क्वालिटी के तकिया और तौलिया इस्तेमाल करने चाहिए, उससे भी बालों की सेहत पर असर होता है, क्योंकि सोते वक़्त वह डायरेक्ट बालों के कॉन्टैक्ट में आते हैं।
  • किसी भी केमिकल युक्त स्टाइलिंग चीजों का इस्तेमाल करने से बचें।
  • बालों को नीम के पत्तों के पाउडर से साफ़ करें। ज़ोर-ज़ोर से कंघी न करें।
  • खुद को तनावमुक्त रखें।